नई दिल्ली. अपने वेतनवृद्धि की रहा देख रहे सांसदों को थोड़ा और इंतजार करना पड़ेगा. क्योंकि उनकी वेतनवृद्धि के प्रस्ताव को भले ही वित्त मंत्रालय से हरी झंडी मिल गई है, लेकिन प्रधानमंत्री कार्यालय में जाकर फाइल अटक गई है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक पीएमओ ऑफिस फिलहाल इस प्रस्ताव को पास करने के पक्ष में नहीं है.
 
बता दें कि सांसदों के वेतन को दोगुना करने का प्रस्ताव आया था जिसमें कहा गया था कि उनके वेतन को 50 लाख से बढ़ाकर 1 लाख रुपये किया जाए.
 
साथ ही सांसदों के ऑफिस, संसदीय क्षेत्र के भत्ते को भी दोगुना करने का प्रस्ताव रखा गया था. उस प्रस्ताव के अनुसार सांसदों का वेतन और भत्ता मिलाकर 2 लाख 80 हजार रुपये करने का प्रस्ताव है.