नई दिल्ली. राज्यसभा से इस्तीफा देने के कुछ ही समय बाद बैंकों के 9000 करोड़ रुपये न चुकाने और देश छोड़कर चले जाने वाले उद्दोगपति विजय माल्या ने ट्वीट कर भारतीय मीडिया पर अपना गुस्सा निकाला है. माल्या ने कहा कि मीडिया मुझे डिफाल्टर कहने से पहले तथ्यों की पुष्टी कर लें.

उन्होंने लिखा, ‘मैं भारतीय मीडिया से कहना चाहता हूं कि मुझे डिफाल्टर कहने से पहले सभी तथ्यों की जांच कर लें’.
 

इससे पहले माल्या ने एक इंटरव्यू में कहा था कि वे अपने लेनदार बैंकों के साथ उचित समझौता चाहते हैं. बातचीत में माल्या ने जोर देकर कहा, ‘मेरा पासपोर्ट लेकर या मुझे गिरफ्तार करके उन्‍हें कोई पैसा हासिल नहीं होने वाला.’ उन्होंने कहा कि मुझे मजबूरी में भारत छोड़ना पड़ा और ब्रिटेन से लौटने का मेरी अभी कोई योजना नहीं है.
 
माल्या इस वक्त सेंट्रल लंदन में अपने घर मायफेयर में रह रहे हैं. उन्होंने आगे कहा, ‘मैं पैसे देने को तैयार था. हम बैंकों से लगातार बातचीत कर रहे हैं. लेकिन बैंकों ने हमारे प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया.’
 
बता दें कि विदेश मंत्रालय ने फैसला लेते हुए माल्या का पासपोर्ट रद्द कर दिया है और रिपोर्ट्स के मुताबिक सरकार ने ब्रिटेन से उनके प्रत्यर्पण की प्रक्रिया भी शुरु कर दी है.