नई दिल्ली. सीबीआई ने धोखाधड़ी मामले में छापेमारी कर जनकपुरी थाने से इंस्पेक्टर केहर सिंह के साथ आशुतोष नाम के एक व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया है. दोनों के पास से 40 लाख कैश के साथ लाखों की सम्पत्ति के दस्तावेज भी बरामद हुए हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार केहर सिंह पर आरोप है कि वह धोखाधड़ी के एक मामले में आरोपी ऐके सिंह से केस में मदद करने के लिए रिश्‍वत ले रहा था. जिसके बाद मामले में दोनों से पूछताछ जारी है.
 
रिपोर्टस के अनुसार सीबीआई ने दोनों को रविवार रात जनकपुरी थाने में छापेमारी कर गिरफ्तार किया है. जिसमें आरोपी एके सिंह पर पुलिस में फर्जी आईएएस अधि‍कारी बनने का मामला दर्ज है. 
 
क्या है पूरा मामला?
रिपोर्टस के मुताबिक एके सिंह खुद को ज्वाईंट सेक्रेटरी बताकर दिल्ली के ईलाके फर्जी छापेमारी करता था. वहीं सीबीआई का कहना है कि जिस वक्त केहर सिंह को गिरफ्तार किया गया उस वक्त एके सिंह मामले को मैनेज करने के लिए 2 लाख की रिश्वत देने के लिए आया था. दिलचस्प बात यह है कि मामले में एके सिंह ने सीबीआई से केहर सिंह की शिकायत नहीं की थी. केहर सिंह को लेकर जांच एजेंसी को पहले से शक था,‍ लिहाजा उन्हें ट्रैक किया जा रहा था.