नई दिल्ली. देश के सांसदों की सैलरी में 100 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हो सकती है. सांसदों ने इसके लिए सिफारिश की है. उन्होंने अपने अच्छे व्यवहार को इसकी वजह बताया है. फाइनेंस मिनिस्ट्री से प्रपोजल क्लियर हो चुका है. इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी अंतिम मंजूरी देंगे. मोदी की मंजूरी के बाद पार्लियामेंट के अगले सेशन में इसके लिए बिल लाया जाएगा.

स्पेशल संसदीय समिती ने सांसदों की सैलरी 50 हजार से एक लाख रुपए हर महीने करने की सिफारिश की है. वेतन भत्ता भी 45 हजार से 90 हजार करने की मांग की गई है. अगर ये सभी सिफारिशें मान ली जाती हैं तो सांसदों का कम्पनसेशन पैकेज एक लाख चालीस हजार रुपए महीने से बढ़कर दोगुना यानी 2 लाख 80 हजार रुपए हर महीने हो जाएगा. 

बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में समिती ने यह सिफारिशें रखी हैं. इन सिफारिशों में पेंशन में भी 75 फीसदी की बढ़ोत्तरी का सुझाव दिया गया है. बता दें कि सांसदों की सैलरी में पिछली बार छह साल पहले बढ़ोतरी की गई थी.