लखनऊ. उत्तर प्रदेश में सीतापुर से समाजवादी पार्टी के विधायक रामपाल यादव पर अवैध निर्माण गिराने गए अधिकारियों से मारपीट के आरोप लगे हैं. राज्य के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस घटना पर कड़ा रुख अपनाते हुए रामपाल को 6 साल के लिए पार्टी से निकाल दिया है. 
 
लखनऊ में अवैध निर्माण गिराने के लिए पहुंचे अधिकारियों से समाजवादी पार्टी के विधायक रामपाल यादव और उनके बेटे ने मारपीट की थी. रामपाल के बेटे ने झड़प के दौरान अपनी पिस्टल से फायरिंग भी की थी. विधायक को उनके आठ समर्थकों के साथ 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है.
 
बता दें कि एलडीए ने समाजवादी पार्टी के विधायक रामपाल यादव के अवैध कॉम्प्लेक्स को ढहा दिया था. यह कॉम्प्लेक्स मुख्यमंत्री आवास के निकट जियामऊ में बनाया जा रहा था. एलडीए की टीम जिला प्रशासन के अधिकारियों और भारी पुलिस बल के साथ पहुंची और कॉम्प्लेक्स को बुलडोजर से ढहा दिया. विधायक को कॉम्पलेक्स गिराए जाने की खबर जैसे ही मिली वह अपने समर्थकों के साथ मौके पर पहुंचे जहां उनकी झड़प प्रशासन के अधिकारियों से हो गई.