पटना. अगस्ता हेलीकॉप्टर मामले में जेडीयू ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि सरकार साइलेंट करप्शन कर रही है. जेडीयू के प्रवक्ता अजय आलोक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि अगस्ता मामले में दोषी चाहे सोनिया गांधी हों या कोई और जांच होने पर सरकार को उन्हें गिरफ्तार करना चाहिए. सरकार को किसी ने रोका नहीं है.
 
आलोक ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा है कि केंद्र सरकार को पूर्व वायु सेना अध्यक्ष एस पी त्यागी को गिरफ्तार करना चाहिए. सरकार का इस मामले में मौन रहना भी एक तरह का भ्रष्टाचार है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार साइलेंट करप्शन कर रही है.
 
क्या है मामला?
 
यूपीए-1 सरकार के वक्त 2010 में अगस्ता वेस्टलैंड से वीवीआईपी के लिए 12 हेलिकॉप्टरों की खरीद की डील हुई थी. डील के तहत मिले 3 हेलिकॉप्टर आज भी दिल्ली के पालम एयरबेस पर खड़े हैं. इन्हें इस्तेमाल में नहीं लाया गया. डील 3,600 करोड़ रुपए की थी. टोटल डील का 10% हिस्सा रिश्वत में देने की बात सामने आई थी. इसके बाद यूपीए सरकार ने फरवरी 2010 में डील रद्द कर दी थी. तब एयरफोर्स चीफ रहे एसपी त्यागी समेत 13 लोगों पर केस दर्ज किया गया था.
 
जिस मीटिंग में हेलिकॉप्टर की कीमत तय की गई थी, उसमें यूपीए सरकार के कुछ मंत्री भी मौजूद थे. इस वजह से कांग्रेस पर भी सवाल उठे थे.