नई दिल्ली. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मिलने एम्स पहुंचे. सुषमा को सीने में जकड़न की शिकायत होने के बाद से भर्ती कराया गया था. गांधी ने अस्पताल के कार्डियो-न्यूरो सेंटर में कुछ समय बिताया, यहां सुषमा का 25 अप्रैल से उपचार चल रहा है. सुषमा स्वराज के लोकसभा में विपक्ष के नेता रहने के समय से राहुल गांधी और उनकी मां कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ उनका अच्छे संबंध रहे हैं. 
 
PM मोदी ने भी लिया हालचाल
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी एम्स जाकर सुषमा स्वराज का हालचाल जाना जो बुखार और सीने में जकडन की शिकायत के बाद यहां उपचार करा रहीं हैं. प्रधानमंत्री रात नौ बजे एम्स अस्पताल पहुंचे और करीब 9:25 बजे वहां से निकल गए.
 
सेहत में हो रहा है सुधार
अस्पताल प्रशासन ने कल कहा था कि स्वराज के स्वास्थ्य में लगातार सुधार हो रहा है और उन्हें जल्दी ही छुट्टी दे दी जाएगी. एम्स ने मंत्री के लिए एक संयुक्त उपचार रणनीति तैयार करने के वास्ते एक चिकित्सा बोर्ड का भी गठन किया है. डॉक्टरों की टीम उन पर लगातार नजर रखे हुए है. उनकी हालत स्थिर है और उनमें सुधार के संकेत दिख रहे हैं. छाती में जकड़न, बुखार निमोनिया के लक्षण दिखने के बाद सोमवार को उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था.
 
हार्ट और डायबिटीज की मरीज हैं सुषमा
सुषमा स्वराज को हार्ट और डायबिटीज के अलावा हाइपर टेंशन की भी शिकायत रहती है. सुषमा कुछ दिन पहले ही विदेश के दौरे से लौटकर आई हैं. सोमवार को सुषमा स्वराज को करीब 5 बजे पल्मोनरी मेडिसिन विभाग के प्राइवेट वार्ड में एडमिट कराया गया था. उसी रात करीब 10 बजे उन्हें कार्डियो-न्यूरो सेंटर ले जाया गया. यहां कार्डियोलॉजी के डॉक्टरों की टीम उनका इलाज कर रही है.