नई दिल्ली. एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ करते हुए कहा है कि आगामी लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री पद के लिए नीतीश बेहतर दावेदार हैं. शरद पवार के इस बयान के बाद सियासी हलचल शुरु हो चुकी है. हालांकि पवार ने बाद में यह भी कहा कि अभी लोकसभा चुनाव में बहुत वक्त है और अभी पीएम पद पर पार्टी में विचार नहीं हुआ है. इसके अलावा पवार ने यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी की तारीफ भी की. पवार का मानना है कि एंटी बीजेपी गठजोड़ में कांग्रेस का रोल बेहद अहम होगा. लेकिन सबको जोड़ने वाला चेहरा सिर्फ नीतीश ही हैं. 
 
‘PM पद के लिए नीतीश पहला नाम’
एक अंग्रेजी अखबार को दिए अपने इंटरव्यू में पवार ने कहा कि बिहार असेंबली इलेक्शन रिजल्ट उन सब के लिए एक सिग्नल हैं. जो कि कांग्रेस या बीजेपी से खुश नहीं है. उन्होंने कहा कि भारत में अगर आज विपक्ष साथ आए और एक विकल्प दे तो नीतीश सबसे पहला नाम होगा. पवार के मुताबिक कांग्रेस के पास ऐसा कोई चेहरा नहीं है. क्योंकि नीतीश एक स्टेट के सीएम हैं तो उनके पास एक अथोरिटी है.
 
सोनिया बहुत उदार हैं: पवार
पवार ने कहा कि इससे पहले सबको साथ रखने वाला चेहरा कांग्रेस प्रेसीडेंट सोनिया गांधी थीं. पवार ने तारीफ करते हुए कहा कि हमने उनसे लड़ाई की और बाद में उनमें बदलाव भी देखा. वह बहुत उदार हैं. वहीं राहुल के बारे में पवार का कहना है कि उनकी अगले तीन सालों की परफॉर्मेंस पर सब कुछ डिपेंड करेगा. उन्होंने कहा कि राहुल अकेले लीडर हैं जो प्रैटिक्ली ज्यादा स्टेट्स में घूम रहे हैं.
 

मायावती का जवाब

शरद पवार के बयान पर यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि 2019 का समय अभी दूर है. अभी यह कहना जल्दबाजी होगी. हमारी पार्टी किस पार्टी के साथ जाएगी यह उसी समय तय किया जाएगा. हम उस वक्त देखेंगे की कौन-सी पार्टी उनके अनुरूप है.