लातूर. सूखे की मार झेल रहे लातूर में बुधवार को बारिश हुई है. इस बारिश से सूखे का संकट झेल रहे लोगों के चेहरे खिल गए. धूप से बचने के लिए इस्तेमाल होने वाले छाते बारिश से बचने के लिए इस्तेमाल हुए लेकिन ये राहत कुछ ही देर की थी क्योंकि थोड़ी देर बाद ही लू और उमस से लोगों को परेशान होना पड़ा. बारीश की वजह से कई घरों की बीजली चली गई और कुछ के छप्पर भी उड़ गए. कई हिस्सों में तकरीबन आधे धंटे तक बारीश हुई.
 
मौसम विभाग का कहना है कि जून के पहले हफ्ते से और अक्टूबर के अंत तक बेहतर बारिश की उम्मीद है. बीड कलेक्टर नवल किशोर का कहना है कि अगर बारिश इन दोनों फेस में होती है तो ही फायदेमंद होगी. 
 
महाराष्ट्र में लातूर समेत मराठवाड़ा का पूरा हिस्सा पानी की भयंकर कमी से जूझ रहा है. लातूर में तो ट्रेन से पानी पहुंचाना पड़ा है.इन सबके बीच आसमान से बरसती इन बूंदों ने सबके मन को ठंडक पहुंचाई है.