नई दिल्ली. छह साल पुराने अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर डील में हुए घोटाले को लेकर संसद में आज भी हंगामे के आसार नजर आ रहे हैं. बीजेपी ने संसद में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और अन्य नेताओं को घेरने की योजना बनाई है. जानकारी है कि बीजेपी ने इस मुद्दे को लेकर लोकसभा में अनुराग ठाकुर और राज्यसभा में सुब्रमण्यम स्वामी को कमान सौंपी है. 
 
वहीं हेलीकॉप्टर सौदे में कथित घूस कांड मामले में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात करते हुए जानकारी दी. बैठक में गृहमंत्री राजनाथ सिंह और एनएसए अजीत डोभाल भी मौजूद थे.
 
रक्षा मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट
 
वहीं इन सब के बीच रक्षा मंत्रालय ने अगस्टा वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर डील पर सीबीआई से स्टेटस रिपोर्ट मांगी है. इस रिपोर्ट के देखने के बाद ही फिनमैकेनिका के खिलाफ अगली कार्रवाई को लेकर कोई फैसला लिया जाएगा. 
 
बिचौलिए से मिले थे पूर्व एयरफोर्स चीफ !
 
इसके अलावा इस मामले में इंडियन एयर फोर्स के पूर्व चीफ एसपी त्यागी के बारे में एक नई बात सामने आई है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उन्होंने साल 2013 में सीबीआई की पूछताछ में ही यह स्वीकार लिया था कि वह बिचौलिये गुइदो हाशके से दिल्ली में मिले थे. त्यागी ने जांच एजेंसी को बताया था कि वह बिचौलिये से एक पार्टी के दौरान दिल्ली स्थित फार्म हाउस पर मिले थे, लेकिन साथ ही यह भी कहा कि उन्होंने कोई रिश्वत नहीं ली. 
 
क्या है मामला?
 
यूपीए-1 सरकार के वक्त 2010 में अगस्ता वेस्टलैंड से वीवीआईपी के लिए 12 हेलिकॉप्टरों की खरीद की डील हुई थी. डील के तहत मिले 3 हेलिकॉप्टर आज भी दिल्ली के पालम एयरबेस पर खड़े हैं. इन्हें इस्तेमाल में नहीं लाया गया. डील 3,600 करोड़ रुपए की थी. टोटल डील का 10% हिस्सा रिश्वत में देने की बात सामने आई थी. इसके बाद यूपीए सरकार ने फरवरी 2010 में डील रद्द कर दी थी. तब एयरफोर्स चीफ रहे एसपी त्यागी समेत 13 लोगों पर केस दर्ज किया गया था.
 
जिस मीटिंग में हेलिकॉप्टर की कीमत तय की गई थी, उसमें यूपीए सरकार के कुछ मंत्री भी मौजूद थे. इस वजह से कांग्रेस पर भी सवाल उठे थे.