मुंबई. शनि शिंगणापुर और त्रयम्बकेश्वर मंदिर में महिलाओं को प्रवेश दिलवाने के बाद भूमाता ब्रिगेड की अध्यक्ष तृप्ती देसाई मुंबई के हाजी अली दरगाह में महिलाओं के प्रवेश के लिए आंदोलन करेंगी. ब्रिगेड के कार्यकर्ता और अध्यक्ष तृप्ति देसाई आज हाजी अली दरगाह में शाम 4 बजे प्रवेश करने की कोशिश करेंगे. दरगाह में महिलाओं के प्रवेश पर रोक है.
 
तृप्ती देसाई ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा है कि वह गुरुवार को दरगाह में प्रवेश की कोशिश करेंगी. उन्होंने कहा कि उन्हें विश्वास है कि कोई उन्हें उस जगह पर प्रार्थना करने से नहीं रोकेगा जहां मुस्लिम महिलाएं प्रार्थना करती हैं. तृप्ती ने कहा, ‘हम कोई नियम नहीं तोड़ रहे हैं. हम तो बस वहां जाना चाह रहे हैं जहां मुस्लिम महिलाओं को जाने की अनुमति है. इसमें गलत क्या है?’.
 
बता दें कि मुस्लिम संगठनों ने तृप्ती देसाई के इस कदम का विरोध करने का फैसला किया है. एमआईएम नेता रफत हुसैन का कहना है कि अगर तृप्ति देसाई दरगाह में जबरन घुसने की कोशि‍श करती हैं तो उनके ऊपर काली स्याही फेंकी जाएगी. उन्होंने कहा, ‘हमारे धर्म के खिलाफ जाएंगे तो हम कालिख 100 फीसदी पोतेंगे. तृप्ति देसाई कानून हाथ में ले सकती हैं तो हम क्यों नहीं?’ हुसैन ने यह भी कहा है कि तृप्ति मुस्लिम औरतों को भड़काने की कोशिश कर रही हैं.