नई दिल्ली. देशद्रोह का आरोप झेल रहे जवाहर लाल नेहरु छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार अपने अब तक के अनुभव पर किताब लिखने जा रहे हैं. किताब ‘बिहार टू तिहाड़’ में वे बिहार के एक गांव से लेकर जेल जाने तक के अनुभव का जिक्र करेंगे.
 
उन्होंने बताया कि इस किताब का नाम ‘बिहार टू तिहाड़’ होगा. कन्हैया ने ये भी बताया कि उन्होंने किताब के लिए एक पब्लिशर के साथ कॉन्ट्रैक्ट भी किया है और ये हिन्दी और अग्रेंजी में छपेगी. कन्हैया ने कहा, ‘मैं अगला सेमेस्टर शुरू होने से पहले इस किताब को पूरा कर लूंगा.’
 
संघर्ष के साथ तथ्य भी होंगे किताब में
इस किताब में उनके संघर्ष के साथ समाज से जुड़े तथ्य होंगे. उन्होंने कहा, ‘इस कहानी में होगा कि किस तरह शोषणकारी समाज में एक लड़का संघर्ष करके जेएनयू पढ़ने आता है और किस तरह कुछ लोग उसे निशाना बनाते हैं. इसके साथ ही मैं समाज के कुछ तथ्यों पर भी रोशनी डालना चाहूंगा.’
 
जगरनॉट प्रकाशन किताब का प्रकाशन करेगा
प्रकाशक चिकी सरकार ने कहा, ‘यह किताब हमारे समय को बयां करेगी. कन्हैया एक आवाज हैं, जिसे हर किसी को सुनना चाहिए और हमें गर्व है कि हम जगरनॉट में ज्यादा से ज्यादा रीडरशिप के लिए इसे ला रहे हैं.’