बरनाला: पंजाब के बरनाला जिले में मंगलावर को एक किसान बलजीत सिंह और उसकी मां बलवीर कौर के साथ जहर पीकर आत्महत्या कर ली थी. आत्महत्या के लिए उकासाने के आरोप में कमीशन एजेंट समेत पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है.  बता दें बलजीत सिंह कर्ज चुका पाने में असमर्थ था इसलिए उसने जमीन को गिरवी रख दिया था. इसके बाद उस बेबस किसान ने अपनी बूढ़ी मां के साथ आत्महत्या कर ली. 
 
पुलिस ने बताया कि 30 वर्षीय किसान बलजीत सिंह और उसकी 60 वर्षीय मां बलवीर कौर ने अपनी दो एकड़ जमीन गिरवी रखकर साहूकार से तीन लाख रुपये का कर्ज लिया था. पुलिस ने बताया कि जमीन को लेकर साहूकार और किसान के बीच कोई पुराना मुकदमा भी चल रहा था. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गुरप्रीत सिंह तूर ने बताया कि अदालत के निर्देश पर जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ पुलिस जमीन पर कब्जा करने के लिए जोधपुर गांव गई थी. 
 
पुलिस ने बताया, अधिकारी जब किसान की जमीन के पास पहुंचे तो मां बेटे ने अन्य लोगों के साथ मिलकर इसका विरोध किया और धन चुकाने के लिए समय मांगा. हैरान करने वाली बात ये थी कि जमीन की कुर्की लेने पहुंचे प्रशासन के अधिकारियों के सामने ही दोनों ने जहर पीकर जान दे दी थी. मां-बेटे की आत्महत्या के बाद पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था और मामला दर्ज कर लिया था.