गया. बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने आरक्षण को खत्म करने की वकालत की है. उन्होंने कहा है कि अगर आरक्षण समाप्त नहीं भी होता है तो इसकी रूपरेखा में बदलाव आना चाहिए.
 
मांझी ने कहा कि हर गरीब और जरुरतमंद को आरक्षण मिलना चाहिए चाहे वो किसी भी जाति या धर्म से हो. उन्होंने कहा कि आजकल जिसे आरक्षण की जरूरत नहीं है वो भी आरक्षण मांग कर रहा है.
 
 
मांझी ने ये बातें वीर कुंवर सिंह जयंती समारोह में कहीं. मांझी ने कहा कि वीर कुंवर सिंह किसी खास के नहीं बल्कि सभी धर्म और जाति के लोगों के थे. वे हमेशा सभी को साथ लेकर चले. उनके बताए रास्ते पर चलकर देश को आजादी मिली.
 
उन्होंने कहा कि आज वीर कुंवर की सपना पूरा नहीं हो पा रहा लेकिन समाज के हर वर्ग के लोगों को साथ लेकर चलने पर ही रणबांकुरे के सपने को पूरा किया जा सकता है.
 
नीतीश पर किया हमला
 
मांझी ने सीएम नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि पूरा दक्षिण बिहार भयावह पेयजल व सूखा से त्रस्त है. जनता की प्यास बुझाने के लिए एक-एक बूंद पानी के लिए तरसना पड़ रहा है.
 
वहीं नीतीश नागरिकों का ध्यान बंटाने के लिए मोदी सरकार पर हमला कर रहे हैं. पीएम पद के लिए स्वयं अपनी उम्मीदवारी प्रायोजित करवा रहे हैं. उन्होंने कहा कि जनता सब समझ रही है, समय आने पर फैसला जरूर सुना देगी.