नई दिल्ली. दाऊद इब्राहिम की बीमारी और पैर काटे जाने की खबर के बाद उसके सहयोगी छोटा शकील का बयान सामने आया है जिसमें उसने तमाम खबरों का खंडन करते हुए कहा है, भाई एकदम फिट है, सेहतमंद है. 
 
इससे पहले खबर आई थी कि 1993 के मुंबई बम धमाकों के मुख्य साजिशकर्ता व देश के मोस्ट वांटेड अपराधी दाऊद इब्राहिम को गैंगरीन हो गया है. अगर जल्द ही उसका पैर नहीं काटा गया, तो पूरे शरीर में जहर फैलने से उसकी मौत भी हो सकती है.
 
रिपोर्ट के मुताबिक अनुसार अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद का इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि उसकी स्थिति काफी ज्यादा बिगड़ चुकी है. चलना-फिरना भी मुश्किल हो गया है. उसके ठीक होने की उम्मीदें बहुत ही कम हैं. उनके पास पैर काटने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं बचा है.
 
रिपोर्ट के मुताबिक मधुमेह की बीमारी से ग्रसित दाऊद का ब्लड शुगर लेवल बहुत ज्यादा बढ़ गया है, जिससे उसके शरीर में खून की सप्लाई प्रभावित हुई है. इसके अलावा उसे हाई ब्लड प्रेशर की भी समस्या है. उसके पैर के अधिकांश हिस्से की कोशिकाएं मर चुकी हैं. गैंगरीन जहर पैदा कर रहा है, जिसके शरीर के बाकी हिस्से में भी फैलने की आशंका है. ऐसे में पैर काटना जरूरी है.
 
पाकिस्तान के कराची स्थित क्लिफ्टन में रहने वाले दाऊद को देश से बाहर ले जाना संभव नहीं है. इसलिए उच्च स्तरीय बैठक के बाद यह फैसला लिया गया है कि उसका इलाज कराची के लियाकत नेशनल अस्पताल व कंबाइंड आर्मी अस्पताल में ही चलेगा. आर्मी अस्पताल के डॉक्टर उसके इलाज का जिम्मा संभालेंगे. खास बात यह है कि भारत द्वारा कई बार सबूत देने के बावजूद पाक हमेशा उसकी पाक में मौजूदगी को नकारता रहा है.