नई दिल्ली. संसद सत्र का आज दूसरा चरण शुरू हो गया है. सत्र की शुरुआत के पहले ही यह अंदाजा लगाया जा रहा था कि उत्तराखंड मामले को लेकर विपक्ष केंद्र सरकार को घेर सकती है. विपक्ष ने इस मामले को लेकर संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा किया. कांग्रेस ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि सरकार सत्ता का गलत इस्तेमाल कर रही है. कांग्रेस के सांसदों ने सरकार के खिलाफ नारे भी लगाए. 
 
बीजेपी नेता वेंकैया नायडू ने उत्तराखंड मामले पर कहा है कि यह मामला अभी कोर्ट में लंबित है इसलिए इस पर चर्चा नहीं की जा सकती. उन्होंने कहा, ‘सरकार हर मुद्दे पर चर्चा करने को तैयार है, लेकिन अगर कोई उस केस पर चर्चा करना चाहता है जो सुप्रीम कोर्ट के सामने है तो संसदीय नियम इसकी इजाजत नहीं देते’. केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने भी उत्तराखंड मामले पर कहा कि मामला अभी कोर्ट में है, इसलिए इस पर कोई चर्चा नहीं की जाएगी.
 
सत्र पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि विपक्ष पिछली बार की तरह इस बार भी सहयोग करेगी. उन्होंने कहा था कि बजट सत्र का दूसरा चरण भी उपयोगी होगा.
 
बता दें कि इस सत्र में 15 बैठकें होंगी जिनमें 90 घंटे कामकाज होगा. इनमें 52 घंटे सरकारी कामकाज के लिए होंगे. सरकार ने इस सत्र के लिए भारी एजेंडा तय किया है जिसमें लोकसभा में 13 विधेयक और राज्यसभा में 11 विधेयक पारित कराना शामिल है.