नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुनिया के उन महान नेताओं में शामिल हो गए, जिनके मोम की प्रतिमा मैडम तुसाद संग्रहालय ने तैयार किए हैं. मोदी के ये पुतले सिंगापुर, हांगकांग और बैंकॉक के संग्रहालय में रखे जाएंगे. पीएम मोदी की मोम की प्रतिमा को सोमवार को उनके 7, रेसकोर्स रोड आवास पर दिखाया गया था. यह प्रतिमा लंदन में मैडम तुसाद के मुख्यालय में लगेगी और लोग इसे 28 अप्रैल को देख सकेंगे. प्रतिमा में मोदी को हाथ जोड़कर ‘नमस्ते’ करते दिखाया गया है, जो उजला कुर्ता और क्रीम रंग की जैकेट में हैं.
 
‘ब्रह्मा जो करते हैं, वही कलाकार करते हैं’
मैडम तुसाद की तरफ से लगाए गए एक वीडियो में पीएम मोदी कह रहे हैं, ‘मैं क्या कह सकता हूं? जहां तक कला की बात है तो मैडम तुसाद की टीम जो करती है, वह अद्भुत है. भगवान ब्रह्मा जो करते हैं, वही सामान्यत: कलाकार करते हैं. आज मुझे लोगों के मुख्य सेवक के तौर पर अपनी मोम की प्रतिमा से मिलने का अवसर मिला.’
 
PM ने किया ट्वीट
प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर खुद इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि भारत की जनता का सेवक होने के नाते मुझे अपनी ही मोम की प्रतिमा से मिलने का मौका मिला. उन्होंने यह ट्वीट बुधवार शाम साढ़े छह बजे किया और इसके दो घंटे की भीतर ही 800 से अधिक लोग इसे रीट्वीट कर चुके थे, जबकि दो हजार से अधिक लोगों ने इसे लाइक किया था.
 
दुनिया भर के दिग्गज राजनेताओं के पुतले लगे
मैडम तुसाद संग्रहालय ने मोदी को दुनिया की राजनीति के सबसे अहम हस्तियों में एक करार दिया था. संग्रहालय में पीएम मोदी के पुतले को अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा, ब्रिटेन के पीएम डेविड कैमरन, जर्मन चांसलर एजेंला मार्केल और फांसिस ओलांड जैसे दिग्गजों के पुतलों के बीच शामिल किया जाएगा. यहां विंस्टन चर्चिल और महात्मा गांधी के पुतले भी लगे हैं.
 
तुसाद संग्रहालय ने क्या कहा?
मैडम तुसाद संग्रहालय के जनरल मैनेजर एडवर्ड फ्यूलर ने कहा, ‘‘हम मैडम तुसाद लंदन के वर्ल्ड स्टेज पर मोदी का स्वागत करते हैं. यह बात अच्छी रही कि पुतला पब्लिकली रखे जाने से पहले मोदी को उसे छूकर देखने का भारत में ही मौका मिल गया. मोदी की सोशल मीडिया फॉलोइंग बताती है कि उन्हें लेकर भारत के लोगों में कितनी दिलचस्पी है.”
 
1836 में बना संग्रहालय, दुनिया भर में 20 शाखाएं
लंदन में साल 1836 में मैडम तुसाड संग्रहालय की स्थापना हुई थी. मौजूदा वक्त में दुनियाभर के 20 शहरों में इसकी शाखाएं हैं. बीते साल नवंबर में पीएम मोदी की लंदन यात्रा के दौरान दिल्ली में इसकी शाखा खोलने का ऐलान किया गया था.