नई दिल्ली. दिल्ली में ऑड-ईवन फॉर्मूले को लागू हुए छह दिन हो गए हैं. सीएम केजरीवाल ने एप बेस्ड कैब सेवा की मनमानी से नाराज होते हुए कहा है कि कैब वाले ब्लैकमेलिंग पर उतारू हैं. उन्होंने कहा सर्ज प्राइसिंग(मांग बढ़ने पर दाम बढ़ाना) दिन दहाड़े लूटने जैसा है.
 
ऑड-ईवन नियम का दूसरा चरण लागू होने के बाद से एप बैस्ड कैब सर्विस का रेट भी बढ़ गया है. जिससे नाराज होकर केजरीवाल ने ट्वीट किया है. उन्होंने कहा, ‘सर्ज प्राइजिंग एक दिनदहाड़े लूट है. कोई भी जिम्मेदार सरकार इसकी इजाजत नहीं दे सकती’.
 
केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि कुछ टैक्सी कंपनियां कह रही है कि उन्हें लूट की इजाजत नहीं मिली तो टैक्सियां सड़कों पर नहीं उतरेंगी. ये खुलेआम ब्लैकमेलिंग है. सरकार इसकी इजाजत नहीं देती है.
 
मीडिया पर निशाना साधते हुए केजरीवाल ने कहा कि कुछ मीडिया कैब कंपनियों के सर्ज प्राइज का समर्थन कर रही है. इनमें से एक मीडिया हाउस ने एक टैक्सी सर्विस देने वाली कंपनी पर 150 करोड़ रुपये लगाए हैं.
 
केजरीवाल ने इन सभी ट्वीट्स के बाद एक और ट्वीट कर कहा कि हम कैब सेवा देने के खिलाफ नहीं हैं. हम पूरी तरह से उनका सपोर्ट करते हैं. वे लोगों को आवश्यक सेवा प्रदान करते हैं. लेकिन उन्हें कानून का पालन करना ही होगा.
 
बता दें कि केजरीवाल ने इससे पहले यह भी कहा था कि जो टैक्सियां निर्धारित कीमत से ज्यादा किराया वसूल करेंगी. उनके खिलाप कार्यवाई की जाएगी. उनके लाइसेंस भी रद्द कर दिए जाएंगे और वाहन जब्त कर लिए जाएंगे. केजरीवाल सरकार ने इसके लिए एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है.