नई दिल्ली. दिल्ली में मर्सिडीज हिट एंड रन केस मामले में नया मोड़ सामने आया है. जानकारी के अनुसार जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने अपने पिता की गाड़ी से व्यक्ति को कुचलने वाले नाबालिग की जमानत खारिज कर दी है.
 
बोर्ड ने यह कहकर जमानत खारिज की है कि वह ‘पहले भी अपराध करता रहा है’, और बोर्ड ने ‘गलत पालन-पोषण’ की भी निंदा की. बता दें नाबालिग पर पहले हत्या लेने का आरोप लगा था जिसे बाद में गैर इरादतन हत्या का मामला करार दिया गया है. इस बीच उसके पिता पर भी बेटे को उकसाने का मामला दर्ज किया जा चुका है.
 
क्या हुआ था उस रात?
4 अप्रैल की रात करीब 8 बजे सिद्धार्थ शर्मा नाम का बिजनेस कंस्लटेंट रोड़ पार कर रहा था. तभी नाबालिग आरोपी ने अपनी मर्सिडीज जो कि करीब 100 किलो/घंटे की रफ्तार चल रही थी, से सिद्धार्थ को टक्कर मारी. सिद्धार्थ को अस्पताल ले जाया गया लेकिन उसकी मौत मौके पर ही हो गई थी,