रघुनाथगंज. कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की खिंचाई की और कहा कि दोनों केवल वादे कर रहे हैं और उन्हें वादे पूरे करने की परवाह नहीं है. राहुल ने मुर्शिदाबाद जिले में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, “मोदी मेक इन इंडिया कार्यक्रम की बात करते हैं.
 
राहुल ने कहा था कि दो करोड़ युवाओं को रोजगार मिलेगा. लोगों ने उन पर भरोसा कर उन्हें सत्ता सौंपी, लेकिन एक भी युवक को अभी तक नौकरी नहीं मिली है.” कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) से हाथ मिलाया है.
 
राहुल ने ममता पर साधा निशना
राहुल ने कहा, “ममता का भी यही हाल है. उन्होंने 70 लाख युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था. लेकिन एक भी व्यक्ति को रोजगार दिलवा पाने में वह नाकाम रही हैं. अलबत्ता लोग यहां से रोजगार के लिए दूसरे राज्यों में जा रहे हैं.” राहुल ने कहा, “ममता ने बंगाल के युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था, फैक्ट्री लगाने का वादा किया था. लेकिन न तो यहां कोई फैक्ट्री है और न ही कोई रोजगार है. इसलिए हमें उन्हें हराना होगा.” 
 
‘सत्ता मिलते ही बदल गईं ममता’
उन्होंने बनर्जी पर आरोप लगाया कि कांग्रेस की मदद से बंगाल की सत्ता हासिल करने के बाद वह रातों रात बदल गईं. उन्होंने कहा, “पांच साल पहले कांग्रेस तृणमूल कांग्रेस को समर्थन दे रही थी, क्योंकि उम्मीद थी कि ममता जी बंगाल में परिवर्तन लाएंगी, लोगों को रोजगार मुहैया कराएंगी, कानून-व्यवस्था सुधारेंगी और उद्योग लगवाएंगी. चुनाव खत्म हुआ और ममता मुख्यमंत्री बन गईं. उसके अगले ही दिन वह बदल गईं. उनके काम करने का तरीका बदल गया, उनके बोलचाल बदल गए और वह अपने सारे वादे भूल गईं, जो उन्होंने कांग्रेस और बंगाल के लोगों के साथ किए थे.”
 
शारदा घोटाले को याद किया
कांग्रेस नेता ने बनर्जी और तृणमूल पर हजारों करोड़ रुपये के शारदा घोटाला मामले, विवेकानंद फ्लाइओवर हादसे और नारदा स्टिंग ऑपरेशन को लेकर हमला बोला. “जब फ्लाइओवर गिर गया तो ममता जी कार्रवाई करने की बात कर रही हैं. लेकिन मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि उन्होंने पिछले पांच साल से कार्रवाई क्यों नहीं की, जब उनके अपने आदमी घटिया सामग्री से फ्लाइओवर का निर्माण कर रहे थे.” उन्होंने कहा, “ममता अपने आप को गरीबों की नेता कहती हैं, लेकिन उन्हें खाद्य सुरक्षा कानून लागू करने की परवाह नहीं है, जबकि यूपीए की सरकार ने राज्य को इसके लिए धन मुहैया कराया था.” 
 
PM मोदी पर साधा निशना
राहुल ने कहा, “जैसे मोदी कहते हैं कि वह काला धन लाएंगे, लेकिन विजय माल्या (शराब कारोबारी) या ललित मोदी (पूर्व भारतीय प्रीमीयर लीग के चेयरमैन) के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करते. ममता भी वही कर रही हैं.” राहुल ने कहा कि पूरे देश के किसान चिंतित हैं, लेकिन उनके लिए कुछ नहीं किया जा रहा है.