नई दिल्ली. मणिपुर के उग्रवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में शहीद मेजर अमित देसवाल का पार्थिव शरीर आज दिल्ली लाया गया. बता दें कि मणिपुर के तमेंगलोंग जिले में उग्रवादी संगठन एनएससीएन के और जेडयूएफ से मुठभेड़ में मेजर अमित देसवाल शहिद हो गए थे.

मेजर अमित हरियाणा के झज्जर के रहने वाले थे. उन्हें रोमांचक अभियानों की सफलता के बाद स्पेशल फोर्स के लिए चुना गया. साल 2011 में उन्होंने इलाइट सर्विस ज्वाइन कर लिया. शारीरिक तौर पर उनकी मजबूती घाटक कोर्स नाम के प्रशिक्षण में दिखी, जहां उन्हें कमांडो डैगर बेस्ट स्टूडेंट का सम्मान दिया गया था. इसके बाद उन्हें साल 2016 में दूसरे चरण के ऑपरेशन हिफाजत में अहम जिम्मेदारी सौंपी गई थी.