भोपाल. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाबा साहेब अंबेडकर के जन्मस्थान महू में ग्राम उदय से भारत उदय अभियान की शुरुआत की. यह अभियान 14 से 24 अप्रैल तक चलेगा. इस दौरान प्रधानमंत्री ने बाबा अंबेडकर को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि अंबेडकर ने अपना का सारा जीवन गरीबों के हक की लड़ाई में समर्पित कर दिया था.
 
मोदी ने अंबेडकर के जीवन संघर्ष पर कहा कि उन्होंने समाज की बुराई के खिलाफ लड़ाई लड़ी है. समाज में फैले जाति आधारित छूआछूत को खत्म करने के लिए अंबेडकर ने अपना सारा जीवन लगा दिया. मोदी ने कहा, ‘मैं बहुत भाग्यशाली हूं कि मुझे अंबेडकर की धरती को नमन करने का मौका मिला’. 
 
मोदी ने कहा कि अंबेडकर संकल्प का दूसरा नाम थे. उन्होंने कहा,’अंबेडकर ने जो भी संकल्प लिया था कि वह समाज से छूआछूत को खत्म करेंगे और उन्होंने इसमें अपना सारा जीवन लगा दिया. वह संकल्प का दूसरा नाम हैं.’ मोदी ने कहा कि महार परिवार में पैदा अंबेडकर ने अपमानित होकर भी गरीबों के लिए लड़ाई लड़ी.
 
मोदी ने सरकार के कामों को बताते हुए कहा कि केंद्र सरकार का मुख्य लक्ष्य गरीबों और किसानों का विकास करना है. उन्होंने कहा कि गांवों तक विकास के स्त्रोत ले जाना जरूरी है. मोदी ने कहा, ‘आजादी के 69 सालों के बाद भी 18000 गांवों में अब तक बिजली नहीं है. सरकार का लक्ष्य है कि अगले ढाई सालों में  हर गांव में बिजली की व्यवस्था हो’. प्रधानमंत्री ने सरकार के बजट पर लोगों का ध्यान ले जाते हुए कहा कि इस साल का बजट गांव-किसानों को समर्पित है. उन्होंने कहा कि केंद्र से हर गांव  को हर साल 75 लाख रुपये दिए जाएंगे विकास के लिए और अगर सही योजना से काम हुआ तो गांवों की तस्वीर बदल जाएगी.
 
मोदी ने कहा, ‘सरकार की कोशिश 2.5 लाख गांवों को डिजीटल बनाने की है. 2022 तक किसानों की आय दुगनी करना सरकार का लक्ष्य है’. उन्होंने कहा कि लक्ष्य कठिन है लेकिन इरादा मजबूत है. मोदी ने पूर्व सरकार पर धावा बोलते हुए कहा है कि पिछले छह सालों तक गरीब गरीब करते रहे लेकिन गरीबों के लिए हुआ क्या है.
 
मोदी ने कहा कि आने वाले तीन साल में भारत के 25 करोड़ परिवारों में से पांच करोड़ परिवारों को गैस कनेक्शन दिया जाएगा. मोदी ने केंद्र सरकार की जन धन योजना पर कहा कि इस योजना से सिर्फ बैंक का खाता नहीं खुला. बल्कि हिंदुस्तान की मुख्य धारा में गरीबों को जगह मिली है. मोदी ने संविधान पर बात करते हुए कहा कि देश संविधान की मर्यादा से चलता है.
 
बता दें कि मोदी ने अंबेडकर की 125वीं जयंती पर महू में आयोजित कार्यक्रम के दौरान सभा को संबोधित करते हुए यह बातें कही. उन्होंने संबोधन के पहले मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार के काम पर लिखी गई 10 साल बेमिसाल किताब भी लॉंच की.