नई दिल्ली. केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने बुधवार को एनआईटी श्रीनगर के छात्रों से मुलाकात की. यह बैठक देर रात तक लगभग ढाई घंटों तक चली. इसमें एनआईटी विवाद से जुड़े कई मुद्दों और पक्षों पर बात की गई. छात्रों ने कैंपस को श्रीनगर से देश के किसी और स्थान पर शिफ्ट करने की मांग की. जिसे स्मृति ने ठुकरा दिया. 
 
छात्रों ने मीटिंग के बाद बताया है कि मंत्री ने आश्वासन दिया है कि पुलिस के लाठीचार्ज से घायल हुए छात्रों के इलाज का खर्चा दिया जाएगा. और जो छात्र ऐसी स्थिति में घर जाना चाहते हैं उन्हें वाहन का खर्च भी दिया जाएगा. छात्रों ने बैठक के दौरान पुलिस प्रताड़ना और पिटाई का बखान भी मंत्री को दिया.
 
वहीं बैठक के बाद स्मृति ईरानी ने कहा कि कानून व्यवस्था उनके हाथों में नहीं है. लेकिन वह इस बारे में बात जरूर करेंगी. उन्होंने छात्रों को सुरक्षा प्रदान करने का आश्वासन दिया.
 
छात्रों ने शिकायत की है कि यह घटना प्रशासन के कहने पर ही हुई है. बता दें कि कुछ दिनों पहले एनआईटी श्रीनगर में आर्मी के जवानों ने गैर कश्मीरी छात्रों पर विरोध प्रदर्शन करने के लिए लाठीचार्ज किया था.