नई दिल्ली. झूठे विज्ञापन पर विवाद झेल रहे भारतीय क्रिकेट टी20 के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का सपोर्ट करने खुद आम्रपाली ग्रुप सामने आ गया है. 
 
अनिल शर्मा ने कहा, ”हम कहां जा रहे हैं. कस्टमर्स से किए वादों को हम पूरा करेंगे. धोनी को इस विवाद में लाना बेहद गलत है वह तो खुद दो साल से अपनी फीस नहीं ले रहे हैं और उनका मामले से कोई लेना देना नहीं है.”
 

वनडे की टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आम्रपाली के ब्रैंड एंबेसडर हैं. आम्रपाली बिल्डर से घर लेने वालों ने बिल्डर की मनमानी से नाराज होकर धोनी के खिलाफ भी सोशल मीडिया पर मुहिम छेड़ दी है.

लोगों का कहना है कि आम्रपाली वादे के मुताबिक वक्त पर घर नहीं दे रहा है. धोनी ने बिल्डर से बात करने का भरोसा दिया है. इस बीच आम्रपाली ग्रुप ने कहा है कि कुछ वजहों से प्रोजेक्ट्स में देरी हुई लेकिन अब काम तेजी से चल रहा है.

धोनी और आम्रपाली ग्रुप का रिश्ता काफी पुराना है…6 साल से भी ज्यादा पुराना. साल 2010 में धोनी टीम इंडिया के कैप्टन और क्रिकेट के सुपरस्टार थे तो वहीं आम्रपाली रिएल एस्टेट सेक्टर में तेजी से बढ़ती हुई कंपनी थी. 

इसी दौरान दोनों ने एक दूसरे से हाथ मिलाया और ये दोस्ती आज तक कायम है. आम्रपाली के हर नए प्रोजेक्ट में धोनी ही उसका चेहरा बनते हैं.