नई दिल्ली. वाटर ट्रेन मंगलवार सुबह पांच लाख लीटर पानी लेकर महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र में सूखा प्रभावित लातूर पहुंच गई है. पानी से भरे 10 वैगन के साथ वाटर ट्रेन सोमवार को मिराज से रवाना हुई थी. एक वैगन में 50 हजार लीटर पानी है. ट्रेन के लातूर पहुंचने पर उसका स्वागत किया गया.
 
केजरीवाल ने तारीफ की
वहीं सरकार पर अक्सर हमला बोलने वाले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस कदम की तारीफ की है. उन्होंने सरकार की तारीफ करते हुए ट्रेन के लातूर पहुंचने पर स्वागत किया है. केजरीवाल ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर लातूर में ट्रेन से पानी भेजे जाने के काम की सराहना करते हुए कहा दिल्ली भी इस काम सहयोग करना चाहती है, अगर पीएम पानी भेजने का इंतजाम करवा दें तो हम भी लातूर में मदद के लिए पानी भेजने को तैयार हैं. 
 
दिल्ली की जनता से की अपील
इससे पहले केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों से अपील की है कि वे महाराष्ट्र के सूखा प्रभावित लातूर शहर के लिए पानी बचाएं. उन्होंने कहा कि लातूर में गंभीर जल संकट है. हम सबको मदद करनी चाहिए. क्या दिल्लीवासी प्रतिदिन कुछ पानी बचाने और इसे लातूर के लोगों को भेजने के लिए तैयार हैं? ब तक का सबसे भयंकर सूखा झेल रहे मराठवाड़ा क्षेत्र में करीब पांच लाख की आबादी वाला लातूर जिला इन दिनों पानी की भारी किल्लत से जूझ रहा है.
 
सीएम केजरीवाल ने एक ट्वीट में कहा, ‘लातूर में गंभीर जल संकट है. हम सबको मदद करनी चाहिए। क्या दिल्लीवासी प्रतिदिन कुछ पानी बचाने और इसे लातूर के लोगों को भेजने के लिए तैयार हैं?’
 
टैंकर्स के जरिये शहर तक पहुंचाया जाएगा पानी
लातूर में जलापूर्ति के लिए ये रेलवे वैगन राजस्थान में कोटा से सोमवार को मिराज पहुंचे थे. अब ट्रेन का पानी पाइपलाइन के जरिए स्टेशन के पास बावड़ी में खाली किया जाएगा. फिर टैंकर्स के जरिये शहर तक पहुंचाया जाएगा. रेलवे और राज्य सरकार के आदेशों के बाद इस ट्रेन को चलाया गया था. 
 
CM बोले-कड़ी मेहनत कर रहा है रेलवे 
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि महाराष्ट्र सरकार और रेल मंत्रालय सूखा प्रभावित क्षेत्र में लोगों को राहत पहुंचाने के लिए कठिन परिश्रम कर रहे हैं. 
 
दूसरी गाड़ी भेजने की भी तैयारियां! 
रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा था, ‘50 टैंक वैगन लातूर के लिए मिराज पहुंचे हैं.’ आठ अप्रैल को लातूर के सूखा प्रभावित क्षेत्रों के लिए पानी के 50 वैगन वाली दो मालगाड़ियों में से एक गाड़ी कोटा वर्कशाप से पुणे मंडल में मिराज के लिए रवाना हुई. रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि 50 वैगन वाली दूसरी मालगाड़ी के 15 अप्रैल के आसपास पानी चढ़ाने के लिए तैयार रहने की संभावना है.
उन्होंने कहा, ‘रेल मंत्रालय के निर्देशों के मुताबिक, कोटा वर्कशाप को 50-50 टैंक वैगन वाली दो मालगाड़ियां मिली हैं और इनके फेरे आवश्यकता के मुताबिक तय किए जाएंगे. इन वैगन की ढुलाई क्षमता प्रति वैगन 54,000 लीटर है.’