नई दिल्ली. विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने अपनी यह मांग दोहराई कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए संसद कानून बनाए. विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने यहां कहा, “हमारे लिए यह बात पूरी तरह साफ है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण केवल कानून बनाकर किया जा सकता है. यही एकमात्र रास्ता है.” 
 
उन्होंने कहा, ‘‘संसद में कानून लाने और राम मंदिर बनाने का रास्ता साफ करने का समय आ गया है. 1987 का बीजेपी का प्रस्ताव भी है. नरेंद्र भाई अपने वादे के पक्के हैं और हमें विश्वास है कि वह राम मंदिर निर्माण के लिए संसद में कानून लाकर अपने वादे को पूरा करेंगे.’’
 
तोगड़िया ने सरकार से कानून पारित करने के लिए संसद के दोनों सदनों का संयुक्त सत्र बुलाने का आग्रह किया. लेकिन, उन्होंने इसके लिए कोई समय सीमा नहीं रखी. उन्होंने कहा, “मोदीजी ने हमें आश्वस्त किया था कि राम मंदिर अयोध्या में बनेगा. मुझे पूरी उम्मीद है कि वह वादा निभाएंगे. यह अब बस समय की बात है.” 
 
तोगड़िया ने एनआईटी छात्रों पर लाठीचार्ज को देश पर धब्बा बताते हुए लाठीचार्ज में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. उन्होंने कहा, ‘‘कश्मीर में पाकिस्तान का झंडा फहराने वाले और पाक समर्थक नारेबाजी करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए. सरकार को कड़े कदम उठाने होंगे. विहिप ने इस पर कड़ा रुख अपनाया है.’’