कोल्लम. केरल के कोल्लम में स्थित पुत्तिंगल देवी मंदिर के हादसे में अब तक पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है.  आग लगने से 110 लोगों की मौत और 383 लोग घायल हो गए हैं, जिनमें से कई की हालत नाजुक है. केरल के डीजीपी ने इस बात की पुष्टि की है. इस हादसे में करीब 110 लोगों की मौत गई और 350 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं, जिनमें से कई की हालत नाजुक है. पीएम नरेंद्र मोदी, सीएम ओमान चांडी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी हालात का जायजा लेने पहुंचे थे. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भी केरल हादसे के लिए संवेदना जताई.
 
ऐसे लगी थी आग
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, आग कोल्लम जिले के तटीय शहर परावूर स्थित पुत्तिंगल मंदिर में रविवार तड़के 3.30 बजे तब लगी, जब वहां हो रही आतिशबाजी से एक चिंगारी निकलकर उस इमारत में जा गिरी, जहां उत्सव मनाने के लिए बड़ी संख्या में उच्च क्षमता वाले पटाखे रखे थे. आतिशबाजी के बीच देखते ही देखते पटाखों में धमाके शुरू हो गए और भयंकर आग लग गई. कुछ ही पलों में पूरी इमारत धराशायी हो गई. मंदिर में रविवार तड़के शुरू हुई आतिशबाजी देखने के लिए हजारों लोग इकट्ठा हुए थे. पुत्तिंगल देवी को समर्पित यह मंदिर आमतौर पर सुबह पांच बजे खुलता है. 
 
PM मोदी ने लिया जायजा
सुबह में मुख्यमंत्री चांडी से फोन पर हुई बातचीत में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि वह इस दुर्भाग्यपूर्ण अग्निकांड के बाद उत्पन्न हालात का जायजा लेने के लिए जल्द ही केरल पहुंच रहे हैं. उन्होंने मृतकों के परिवारों को दो-दो लाख और घायलों को 50 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है. 
PAK पीएम नवाज ने जताई संवेदना
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भारत के दक्षिणी राज्य केरल के मंदिर में लगी आग पर दु:ख जताया और मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना जताई. पाक विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा, “पाकिस्तान के पीएम नवाज ने मंदिर में हुए अग्निकांड में हुई मौतों पर दु:ख जताते हैं और मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट करते हैं.” उन्होंने कहा, “हमें शोकसंतप्त परिवारों से पूरी हमदर्दी है. हम घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं.”