पटना. मुजफ्फरपुर कोर्ट में अपराधियों ने सोमवार को एक विचाराधीन कैदी की फिल्मी स्टाइल में गोली मार कर हत्या कर दी गई. हत्या की इस वारदात को उस वक्त अंजाम दिया गया जब उसे कोर्ट में पेशी के लिये लाया जा रहा था. बाइक पर सवार दो की संख्या में आये अपराधियों ने कोर्ट परिसर में सूरज पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरु कर दी और फरार हो गये. पेशी को ले जाने के दौरान ही अपराधियों ने उसकी गोली मार कर हत्या कर दी. 
 
घटना की सूचना मिलने के बाद एसपी और डीएम कोर्ट परिसर पहुंच गए है. पुलिस ने बताया कि हत्या की इस वारदात को सुरक्षा के लिहाज से अति संवेदनशील माने जाने वाले कोर्ट परिसर में अंजाम दिया गया. जिस विचाराधीन बंदी की गोली मार कर हत्या की गई है उसकी पहचान सूरज के रूप में की गई है. 
 
पुलिस ने बताया कि सूरज को पंकज मार्केट के सरफराज हत्याकांड में मुख्य अभियुक्त बनाया गया था. जानकारी के मुताबिक सूरज को पेशी के लिये कोर्ट में लाया जा रहा था इस दौरान उसे करीब से एक के बाद एक कर के अपराधियों ने चार गोलियां मारी. गोली लगने के बाद उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया.
 
दिनदहाड़े कोर्ट परिसर में हुई इस हत्या के बाद इलाके में भगदड़ मच गई. गोली चलने के बाद कोर्ट में आये लोग इधर उधर भागने लगे. घटना से आक्रोशित कैदियों ने कोर्ट परिसर में जमकर हंगामा मचाया और कैदी वाहन में तोडफोड़ की.
 
घटना की सूचना पाकर मौके पर डीएम और एसपी पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सूरज गोली लगने के लगभग आधे घंटे तक जीवित था लेकिन किसी ने उसे बचाने की कोशिश नहीं की .