कोलकाता. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि पनामा पेपर्स के खुलासे की जांच रिपोर्ट आने के बाद कांग्रेस के पास ‘जश्न मनाने के बहुत सारे कारण नहीं होंगे.’ उन्होंने कहा कि सरकार इस खुलासे की कई जांच एजेंसियों का दल गठित कर जांच करा रही है. जेटली ने यहां कहा, “बहुत निष्पक्ष ढंग से जांच की जा रही है और यह कई एजेंसियों की जांच है. जब इस जांच का विस्तृत ब्यौरा आएगा, तब कांग्रेस के पास जश्न मनाने के कई कारण नहीं होंगे.” 
 
सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग करते हुए कांग्रेस ने कहा है कि स्वच्छ एवं निष्पक्ष जांच के लिए वित्त मंत्री जेटली खुद को इस जांच से अलग कर लें. जेटली से जब यह पूछा गया कि वह जांच में किस तरह निष्पक्षता बनाए रखेंगे, उन्होंने कहा, “मैं कांग्रेस की दलील को समझ नहीं पा रहा हूं.” 
 
खोजी पत्रकारों के अंतर्राष्ट्रीय संघ (आईसीआईजे) के खुलासे (जिसे पनामा पेपर्स नाम दिया गया है) की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई एजेंसियों का दल गठित कर जांच करने का आदेश दिया है. आईसीआईजे ने खुलासा किया है कि 500 से अधिक भारतीयों ने कालेधन को पनाह देने वाले देशों में कंपनियां खोल रखी हैं.