कोल्लम. केरल के कोल्लम में स्थित पुत्तिंगल देवी मंदिर में आग लगने से 110 लोगों की मौत और 383 लोग घायल हो गए हैं, जिनमें से कई की हालत नाजुक है. कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी हालात का जायजा लेने और मृतकों के प्रति शोक जताने के लिए विमान से कोल्लम पहुंच गए हैं.
 
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कोल्लम पहुंचे और उन्होंने अस्पताल में घायलों से मुलाकात की. इसके बाद इस हादसे को लेकर पीएम मोदी मुख्यमंत्री ओमान चांडी के साथ हेल्थ मिनिस्टर नड्डा व प्रदेश के अन्य उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की.
 
सीएम ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच के आदेश दे दिए हैं. साथ ही सीएम ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये दिए जाएंगे वहीं घायलों को 2-2 लाख रुपये दिए जाएंगे.
 
कुछ ऐसे लगी आग
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, आग कोल्लम जिले के तटीय शहर परावूर स्थित पुत्तिंगल मंदिर में रविवार तड़के 3.30 बजे तब लगी, जब वहां हो रही आतिशबाजी से एक चिंगारी निकलकर उस इमारत में जा गिरी, जहां उत्सव मनाने के लिए बड़ी संख्या में उच्च क्षमता वाले पटाखे रखे थे.
 
आतिशबाजी के बीच देखते ही देखते पटाखों में धमाके शुरू हो गए और भयंकर आग लग गई. कुछ ही पलों में पूरी इमारत धराशायी हो गई. मंदिर में रविवार तड़के शुरू हुई आतिशबाजी देखने के लिए हजारों लोग इकट्ठा हुए थे. पुत्तिंगल देवी को समर्पित यह मंदिर आमतौर पर सुबह पांच बजे खुलता है. 
 
‘बढ़ सकती है मृतकों की संख्या’
तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य थॉमस मैथ्यू ने कहा कि अस्पताल में करीब 45 लोगों को भर्ती कराया गया है. उनमें से अधिकांश के हाथ-पैरों की हड्डियां टूट गई हैं.
 
मैथ्यू ने कहा कि यहां हादसे में मृत 11 लोगों के शव लाए गए और अन्य दो की यहां पहुंचने के बाद मौत हो गई. घायलों को कई अन्य अस्पतालों में भी भर्ती कराया गया है. घायलों में कई की हालत बेहद नाजुक है, इसलिए मृतकों की संख्या बढ़ सकती है.