नई दिल्ली. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ‘जदयू राष्ट्रीय परिषद’ में शामिल होने शनिवार शाम दिल्ली पहुंचे. इस बैठक में शामिल होने के लिए कई जदयू नेता दिल्ली पहुंच गए है. यह बैठक काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है क्यों कि इसमें पार्टी का नया अध्यक्ष भी चुना जा सकता है.
 
बता दें कि शरद यादव ने चौथी बार राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने से इनकार कर दिया है. पिछली बार यानी तीसरी बार वह पार्टी संविधान में संशोधन के जरिए राष्ट्रीय अध्यक्ष बने थे. अब चौथी बार इस तरह अध्यक्ष बनने में उन्होंने असमर्थता जताई है.
 
जदयू में चल रही चर्चाओं पर गौर करें तो इस बार नीतीश कुमार को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया जा सकता है. शरद यादव के इनकार की खबर आने के बाद पिछले दिनों मीडिया से बातचीत में प्रदेश अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह ने नीतीश कुमार को इस पद के लिए सर्वथा उपयुक्त बताया था.
 
पार्टी सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय परिषद की बैठक में विभिन्न राज्यों में होने वाले चुनाव के मद्देनजर अजीत सिंह की नेतृत्व वाली पार्टी रालोद और बाबूलाल मरांडी की पार्टी झाविमो के साथ विलय पर भी चर्चा संभव है. मुख्यमंत्री द्वारा बिहार में लागू की गई पूर्ण शराबबंदी के फैसले को राष्ट्रीय मुद्दा बनाने की रणनीति पर भी चर्चा होगी. बैठक में पार्टी पदाधिकारियों के साथ ही लोकसभा और राज्यसभा के सांसद, विधायक और विधान पार्षद भी शामिल होंगे.