गुवाहाटी. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह ने भारत-बांग्लादेश सीमा सील करने की पार्टी की बचनबद्धता दोहराते हुए शनिवार को कहा कि स्थानीय लोगों की पहचान और संस्कृति की सुरक्षा भी उनकी पार्टी की प्राथमिकता रहेगी. उन्होंने कहा, “बीजेपी भारत-बांग्लादेश सीमा सील करने के लिए बचनबद्ध है. हम यथसंभव जल्द से जल्द सीमा सील कर देंगे.”
 
शाह ने कहा, ”दोनों देशों के बीच भूमि की अदला-बदली ने पहले ही इस प्रक्रिया को आसान कर दिया है.” असम में रह रहे अवैध बांग्लादेशी घुसपैठियों के निर्वासन के बारे में उन्होंने कहा, “सीमा सील करना हमारी प्राथमिकता है, ताकि हम घुसपैठ रोक सकें.” 
 
शाह ने कहा, “केंद्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार (राजग) और राज्य सरकारें इन बांग्लादेशियों की पहचान के लिए मिलकर कदम उठाएंगी.” उन्होंने कहा कि इसके बाद बांग्लादेश सरकार से इस मुद्दे पर बात की जाएगी. शाह ने असम की कांग्रेस सरकार पर आरोप लगाया कि राज्य सरकार इस मुद्दे की परवाह नहीं कर रही, क्योंकि घुसपैठिए उसके ‘वोट बैंक’ हैं.
 
शाह ने कहा, “असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने एक बार कहा था कि असम में एक भी बांग्लादेशी नहीं है. राज्य के मुख्यमंत्री का यह बयान इस मुद्दे पर सरकार के रवैये को दर्शाता है.”