नई दिल्ली. दिल्ली के पॉश इलाके सिविल लाइन्स में मर्सिडीज हिट एंड रन केस में नया मोड़ सामने आया है. नाबालिग बेटे को मर्सिडीज गाड़ी थमाने के चलते बिल्डर मनोज अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया गया है. सिविल लाइन थाना पुलिस ने गैर जमानती गंभीर धाराओं के तरह मुकदमा दर्ज किया है.
 
वहीं गाड़ी चलाने वाले नाबालिग पर लापरवाही से मौत की धारा को हटाकर अब गंभीर धारा में गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है. बता दें कि इस नाबालिग के रफ्तार में गाड़ी चलाने की वजह से सिद्धार्थ शर्मा की मौत हो गई थी.
 
पुलिस का मामले में कहना है कि नाबालिग को बेकसूर नहीं माना जा सकता है. जांच में यह भी सामने आया है कि इससे पहले भी तेज रफ्तार में वाहन चलाते हुए नाबालिग एक और दुर्घटना कर चुका है. डीसीपी का कहना है कि मामले में मनोज अग्रवाल भी दोषी हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक नाबालिग का नाम पहले भी सड़क दुर्घटनाओं में सामने आ चुका है.