नई दिल्ली. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष नसीर खान जांजुआ से फोन पर बात करके अपनी नाराज़गी जताई है. अजीत डोभाल ने साफ किया कि विदेश सचिव की बातचीत के लिए दोनों देश एक-दूसरे के संपर्क में हैं, और इसकी रूपरेखा तैयार हो रही है. जेआईटी के भारत आने से पहले दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए थे कि उनकी टीम यहां आएगी और हमारी टीम वहां जाएगी.

आपको बता दें कि भारतीय जांच एजेंसी एनआईए के पठानकोट हमलों की जांच को लेकर पाकिस्तान का दौरा करने के सवाल पर बासित ने कहा था कि व्यक्तिगत तौर पर उन्हें लगता है कि यह पूरी जांच पड़ताल आदान-प्रदान की बात नहीं बल्कि इस मामले की तह तक जाने के लिए सहयोग को बढ़ाने की बात है.

भारत-पाकिस्तान के बीच शांति प्रक्रिया स्थगित

इसके साथ ही पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने कहा था कि मुझे लगता है कि फिलहाल भारत और पाकिस्तान के बीच शांति प्रक्रिया ‘स्थगित’ है. बासित ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि पाकिस्तान भारत के साथ सामान्य और शांतिपूर्ण रिश्ते चाहता है.

उन्होंने कहा कि हम उन सभी से सचेत हैं जो पाकिस्तान में अशांति पैदा करना चाहते हैं और इसे अस्थिर करने में लगे हैं. दोनों देशों के बीच विदेश सचिव स्तर की वार्ता पर बासित ने कहा कि अभी कोई बैठक तय नहीं है. उन्होंने कहा, ‘भारत अभी तक तैयार नहीं है. हम सिर्फ बातचीत से ही मुद्दों को सुलझा सकते हैं.’

भारत ने खारिज किए थे बासित के दावे

विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित के दावे को खारिज करते हुए कहा था कि NIA के PAK दौरे को लेकर दोनों मुल्कों में पहले ही सहमति बन चुकी थी. मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने गुरुवार को कहा कि जेआईटी के पठानकोट आने से पहले ही इस ओर रजामंदी हो गई थी.

मसूद अजहर के खिलाफ अरेस्ट वारंट

पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमला मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बड़ा कदम उठाया है. एनआईए की विशेष अदालत ने शुक्रवार को चार पाकिस्तानी आतंकियों के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया है, जिनमें मसूद अजहर और उसके भाई रउफ का नाम भी शामिल है.