कनखल (हरिद्वार). शारदा और ज्योर्तिपीठ के जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा है कि बीजेपी सरकार अयोध्या में राम मंदिर कभी नहीं बनाएगी. जगतगुरु शंकराचार्य ने यहां स्थित मठ में बातचीत के दौरान कहा, “पिछले करीब दो वर्षो के कार्यकाल में मोदी सरकार ने ऐसा कुछ नहीं किया, जिससे लगे कि रामलला का मंदिर बनने जा रहा है.” 
 
‘राम मंदिर के नाम का सहारा लेकर BJP सत्ता में आई’
उन्होंने कहा कि मंदिर को लेकर स्वार्थपूर्ण राजनीति चल रही है. मौजूदा केंद्र सरकार राम मंदिर के नाम का सहारा लेकर सत्ता में आ गई, लेकिन कुर्सी पर बैठते ही राम को भूल गई. शंकराचार्य ने कहा, “यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि बीजेपी के कार्यकाल में ही मंदिर बनेगा. हकीकत यह है कि बीजेपी कभी राम मंदिर नहीं बनाएगी. राम केवल एक पार्टी के नहीं हैं. पूरे विश्व का उन पर अधिकार है. मंदिर का निर्माण विद्वान और संत मिलकर करेंगे.” 
 
‘भारत माता की धरती पर रहने वाला हर व्यक्ति हिंदू’
‘भारत माता की जय’ बोलने को लेकर छिड़े विवाद पर शंकराचार्य ने कहा कि भारत माता की धरती पर रहने वाला हर व्यक्ति हिंदू है. भारत माता सभी की मां हैं. अंग्रेजों के शासन काल में भगत सिंह और चंद्रशेखर आजाद जैसे लाखों देशभक्त भारत माता की जयकार करते हुए शहीद हो गए. ‘भारत माता की जय’ बोलने से किसी को परहेज नहीं करना चाहिए.
 
उत्तराखंड संकट पर बोले शंकराचार्य
उत्तराखंड के सियासी संकट के लिए शंकराचार्य ने केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने एक साजिश के तहत हरीश रावत की सरकार को गिराया है. केंद्र सरकार ने हरीश रावत के विकास कार्यो से चिढ़कर यह कार्रवाई की है.