नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर रैली के दौरान तीखी टिप्पण्णी की है. मोदी ने कहा कि केंद्र की ओर से आयोजित राज्यों के लिए चर्चा का दीदी ने बहिष्कार किया था लेकिन वे दिल्ली जा कर सोनिया गांधी जी का आर्शीवाद जरूर लेती हैं.
 
मोदी ने कहा कि  वे किस तरह की मुख्यमंत्री हैं? जब भी राज्यों के विकास के मुद्दों पर चर्चा के लिए केंद्र बैठक बुलाती है, दीदी इसका बहिष्कार करती हैं. चाहे इससे उनके राज्य को नुकसान ही क्यों न पहुंचे. वे (ममता) इन बैठकों में केवल इसलिए हिस्सा नहीं लेती हैं क्योंकि ये मोदी द्वारा बुलाई गई होती हैं. जब भी वह दिल्ली जाती हैं, वे सोनिया गांधी से मिलती हैं और उनका आशीर्वाद लेती हैं.
 
फ्लाईओवर गिरने का उठाया मुद्दा
आरोप-प्रत्यारोप में हाल ही फ्लाईओवर गिरने की बात भी उठाई गई जिसमें कई लोगों की जान चली गई वहीं न जाने कितने घायल हो गए. 
 
लोगों को किया गुमराह
रैली में मोदी ममता बनर्जी पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने परिवर्तन का नारा दिया था और लोगों को भ्रमित किया . वे मां, माटी, मानुष की बात करती हैं लेकिन यहां केवल मौत और मनी दिख रहा है. मोदी ने कहा कि इस घटना को लेकर तत्काल राहत कार्य शुरू करने और लोगों को बचाने की बजाए,
 
उन्होंने आरोप लगाना शुरू कर दिया. पहला काम उन्होंने जो किया वो यह कि फ्लाईओवर का अनुबंध देने का आरोप वाममोर्चा पर लगाया. लेकिन अगर फ्लाईओवर पूरा हो गया होता तब क्या वे वाममोर्चा को बधाई देती? ऐसे में उन्हें फ्लाईओवर गिरने की जिम्मेदारी लेनी चाहिए.
 
उन्होंने कहा कि जब उन्होंने सरकार का कार्यभार संभाला तब ऐसा लगा कि वामदलों के कुशासन के बाद वे बंगाल को सही दिशा में ले जाने का प्रयास करेंगी. लेकिन उन्होंने केवल वामदलों की विरासत को आगे बढ़ाया और राज्य को और बर्बादी की ओर ले गई.