नई दिल्ली. भारत ने संयुक्त राष्ट्र को बताया है कि जैश-ए-मोहम्मद का प्रमुख मसूद अजहर पठानकोट एयरबेलस में हुए आतंकी हमले का दोषी है. भारत ने अजहर के बारे में यूएन को एक रिपोर्ट भी सौंपी है. 
 
भारत का कहना है कि पठानकोट हमले में अजहर का भी हाथ था. वह हमला करवाने वाले आतंकवादियों में से एक था. और उसके संगठन को तालिबानियों ने हथियार प्रशिक्षण दिया था. भारत ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अजहर ने भारत में कई आतंकी हमलों को अंजाम दिया है. जिसमें 2 जनवरी को हुआ पठानकोट एयरबेस हमला भी शामिल है. बता दें कि भारत इससे पहले भी संयुक्त राष्ट्र में अजहर के आतंकी होने की बात कह चुका है. 
 
भारत ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि साल 2009 में संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरुकी फांसी का बदला लेने के लिए मसूद की लश्कर ए तैयबा के संस्थापक हाफिज सईद और हिजबुल मुजाहिदीन के प्रमुख सैयद सलाउद्दीन के साथ मुलाकात हुई थी. जिसमें पठानकोट पर हमला करने की रणनीति तैयार की गई थी.