नई दिल्ली. दिल्ली सरकार के मंत्री कपिल मिश्रा ने केंद्र सरकार की विदेश नीति पर निशाना साधा है. उन्होंने सवाल उठाया कि क्या प्रधानमंत्री के रूप में देश को एक आईएसआई एजेंट मिला है? उन्होंने कहा कि जिस तरह प्रधानमंत्री भारत विरोधी ताकतों के आगे घुटने टेक रहे हैं वह गंभीर चिंता का विषय है.

पाकिस्तानी मीडिया में पठानकोट हमले को लेकर वहां की JIT की रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंने ट्विटर पर केंद्र सरकार से सवाल किया. उन्होंने कहा, ‘ISI की रिपोर्ट पर भाजपा चुप क्यों? हमें बताया जाए कि नवाज शरीफ और नरेंद्र मोदी के बीच क्या डील हुई थी? मोदी देश से मांफी मांगें और जवाब दें.’

केजरीवाल ने भी साधा निशाना

इसके पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी उसी रिपोर्ट का हवाला देते हुए बीजेपी और आरएसएस के इरादों पर सवाल उठाया था. उन्होंने ट्विटर पर लिखा- ‘मुंह में राम बगल में छुरी. BJP-RSS वाले मुंह से ‘भारत माता की जय’ बोलते हैं और ISI को बुलाकर भारत माता की पीठ में छुरा भोंक देते हैं.’

बता दें कि पठानकोट हमले की जांच के लिए काफी दबाव के बाद पाकिस्तान ने संयुक्त जांच टीम भेजी थी. पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उस टीम ने स्वदेश लौटने के बाद हमले को भारत का ड्रामा करार दिया और कहा कि यह पाकिस्तान को बदनाम करने की साजिश है.