नई दिल्ली. पनामा की लॉ फर्म मोसेक फोंसेका के खुफिया दस्तावेज लीक होने से दुनियाभर के कई दिग्गज नेता, कारोबारी और सेलेब्रिटीज इसके लपेटे में आ गए हैं. इन दस्तावेजों के लीक होने से पता चला है कि बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन और एश्वर्या राय ने अपनी संपत्ति को छिपाने के लिए टैक्स हैवन की मदद ली है.

इतना ही नहीं इन दस्तावेजों में रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के करीबि‍यों, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ , मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति होस्नी मुबारक, सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद, पाकिस्तान की पूर्व पीएम बेनजीर भुट्टो का भी नाम है.

यह दुनिया के सबसे बड़े खुलासों में से एक बताया जा रहा है. तकरीबन 1 करोड़ 15 लाख से ज्यादा बेहद खुफिया डॉक्यूमेंट्स लीक हो गए हैं. इसके लपेटे में 70 से ज्यादा वर्तमान या पूर्व राष्ट्राध्यक्ष और तानाशाह आ गए हैं.

इंटरनेशनल कंसोर्शियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्सन (आईसीआईजे) ने रविवार को पनामा पेपर्स के नाम से इन लीक टैक्स् दस्तांवेजों को जारी किया. जांच में यह खुलासा हुआ कि नवाज शरीफ परिवार ने प्रॉपर्टीज को गिरवी रखकर डाएचे बैंक से 70 लाख पाउंड का लोन हासिल किया. इसके अलावा, अन्य दो अपार्टमेंट को खरीदने में बैंक ऑफ स्कॉटलैंड ने वित्तीय मदद की.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, अमिताभ बच्चन को चार कंपनियों का डायरेक्टर नियुक्त किया गया था, जिनमें से तीन बहामास में थीं. इन कंपनियों की आध‍िकारिक तौर पर कैपिटल 5 हजार से 50 हजार डॉलर के बीच में थी, लेकिन ये कंपनिया उन शिप्स का कारोबार कर रही थीं, जिनकी कीमत करोड़ों में थी. लिस्ट में ऐश्वर्या का भी नाम है.ऐश्वर्या को पहले एक कंपनी का डायरेक्टर नियुक्त किया गया था, बाद में उन्हें कंपनी का शेयर होल्डर घोष‍ित कर दिया गया.

अर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर लियोनेल मेसी को लेकर भी खुलासा हुआ है. मेसी और उनके पिता ने पनामा की एक कंपनी मेगा स्टा र एंटरप्राइज इंक को खरीदा था. इस कं‍पनी के जरिए भी गड़बड़ी होने की बात सामने आई है.