श्री नगर. जम्मू-कश्मीर में दो महीने से अधिक समय के राजनीतिक गतिरोध पर विराम लगाते हुए पीडीपी और बीजेपी सरकार बनाने जा रही है. महबूबा मुफ्ती आज जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहीं हैं. महबूबा मुफ्ती जम्मू-कश्मीर की पहली महिला मुख्यमंत्री बनेंगी. खास बात यह है कि महबूबा ने फारूक अब्दुला और उमर अब्दुल्ला को भी फोन कर शपथ ग्रहण समारोह के लिए आमंत्रित किया है.
 
राजभवन में सुबह 11 बजे आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में महबूबा के अलावा डिप्टी सीएम के रूप में बीजेपी विधायक दल के नेता डॉ. निर्मल सिंह भी शपथ लेंगे. मुख्यमंत्री सहित पूरा मंत्रिमंडल 24 सदस्यों का होने की संभावना है. 
 
‘अपवित्र है PDP-BJP गठबंधन’
कांग्रेस के मुख्य प्रदेश प्रवक्ता रवींद्र शर्मा ने कहा, ‘‘हमने भावी मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के कल के शपथ ग्रहण समारोह से दूर रहने का फैसला किया है क्योंकि यह गठबंधन शुरू से अपवित्र है और उन्होंने एक बार फिर यह अपवित्र गठबंधन बनाया है.’’
 
कौन हैं महबूबा मुफ्ती?
महबूबा मुफ्ती का जन्म 22 मई 1959 को जम्मू-कश्मीर के बिजबेहारा में हुआ था. उन्होंने जम्मू-कश्मीर विश्वविद्यालय से पढ़ाई की है. महबूबा मुफ्ती पीडीपी की अध्य़क्ष है और वर्तमान मं अनंतनाग से सांसद है. 1999 का लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था. लेकिन वह तब पूर्व मुख्यमंत्री उमर अबदुल्ला से चुनाव हार गईं थी. 2004 में महबूबा मुफ्ती कांग्रेस गठबंधन सरकार का हिस्सा बनीं और लोकसभा चुनाव में भी जीत गईं. लेकिन 2009 में महबूबा को एक बार फिर हार का मुंह देखना पड़ा.  
 
PDP-BJP सरकार से बाहर हो सकते हैं कुछ चेहरे
राज्यपाल एन.एन. वोहरा ने पीपुल्स डेमोकेट्रिक पार्टी(पीडीपी) की महबूबा मुफ्ती को सोमवार को राज्य की नई मुख्यमंत्री की शपथ लेने के लिए शनिवार शाम औपचारिक न्योता दिया. मंत्रिपरिषद को लेकर प्रारंभिक खबरों के मुताबिक, पीडीपी और बीजेपी ने 25 सदस्यीय मंत्रिमंडल में उन्हीं चेहरों को शामिल करने का निर्णय लिया है, जो इससे पहले मुख्यमंत्री रहे मुफ्ती मुहम्मद सईद के इंतकाल से पहले उनके मंत्रिमंडल में थे. पीडीपी के कम से कम चार वरिष्ठ नेता महबूबा जी कि ‘हिट लिस्ट’ में हैं. वे उनके पिता के मंत्रिमंडल में महत्वूपर्ण विभाग संभाल रहे थे.