कानपुर. रविवार की सुबह ड़ेढ साल की बच्ची खुशी की मौत हो गई है. इससे पहले मासूम बच्ची को बचाने के लिए प्रशासन के साथ सेना ने कमान संभाल ली थी. जिसके बाद उसे बाहर निकाला जा सका लेकिन जान नहीं बचाई जा सकी. बच्ची की मौत दम घुटने से हुई है.
 
 
शहर के नवाबगंज में मोहल्ले में चिडि़याघर के पास घटी इस घटना के बाद हजारों लोगों की भीड़ मौके पर जुट गई थी. गोंडा की रहने वाली खुशी का पिता सोनू दिहाड़ी मजदूर है. अपनी पत्नी श्यामा का इलाज कराने वह कानपुर आया था. रविवार सुबह घर के पास मैदान में खुशी खेल रही थी. इसी दौरान 25 फुट गहरे बोरवेल में उसका पैर फिसला और वह नीचे चली गई. उसके गिरते ही चीख-पुकार मच गई.