मेरठ. मैगी के बाद अब फूड सेफ्टी ऐंड ड्रग ऐडमिनिस्ट्रेशन (FSDA) ने बाबा रामदेव के पतंजलि आटा नूडल्स को ‘खराब’ बताया है. टीम ने जांच में पाया कि पतंजलि नूडल्स में लिमिट से तीन गुना ज्यादा ऐश कन्टेंट हैं. जो मैगी में पाए गए सैम्पल से भी ज्यादा हैं.
 
5 फरवरी को पतंजलि नूडल्स के सैंपल्स जांच के लिए अलग अलग स्थानों से कलेक्ट किया गया था. शनिवार को आई जांच की रिपोर्ट में टीम ने कहा है कि इन नूडल्स में मोनो सोडियम ग्लूटामेट (एमएसजी) की क्वांटिटी लिमिट से ज्यादा पाई गई है और ये स्टेंडर्ड पर खरा नहीं उतरा. अब इस रिपोर्ट के बाद एफएसडीए अपनी अगली कार्यवाई करने की तैयारी में है.
 
बता दें कि एफएसडीए का कानून कहता है कि खाद्य पदार्थ में ऐश कन्टेंट की लिमिट 1% होनी चाहिए. लेकिन सभी सैम्पल जांच में फेल पाए गए और खाने के लिहाज से सब-स्टैंडर्ड हैं.