बिजनौर: उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के एक इंसपेक्टर की दो बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी गई. इंसपेक्टर अपनी पत्नी के साथ उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले से एक शादी में शामिल होकर लौट रहे थे. सूत्रों ने रविवार को बताया कि इंसपेक्टर मोहम्मद तनजिल अहमद और उनकी पत्नी को शनिवार रात सहसपुर शहर के करीब अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी. हमलावर मोटरसाइकिलों पर सवार थे और उनका पीछा करते आ रहे थे. गोलीबारी की इस घटना में उनकी पत्नी भी गंभीर रूप से घायल हुई हैं. उन्हें मुरादाबाद के कॉसमॉस अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 
 
 
 
पठानकोट हमले की जांच नहीं कर रहे थे तनजिल
एनआईए ने इस गंभीर घटना बताया है. इसकी जांच के लिए घटनास्थल पर लखनऊ से डीआईजी के नेतृत्व में एक टीम पहुंच गई है. एटीएस के आईजी और डीआईजी भी मौके पर पहुंच चुके हैं. एनआईए ने कहा कि तनजिल अहमद कई आतंकी हमलों की जांच टीम में शामिल थे लेकिन वह पठानकोट हमले की जांच नहीं कर रहे थे. 
 
पठानकोट जांच से कैसे जुड़े थे?
बताया जा रहा है कि तंजील एनआईए में डेपुटेशन पर आए थे. वे कोर ऑपरेशन टीम का हिस्सा था. देश में सभी छोटी-बड़ी आतंकी घटनाओं की जांच में वे शामिल होते थे. पिछले दिनों पठानकोट हमले को लेकर पाकिस्तान से आई जेआईटी टीम के साथ इंडियन अफसरों के डेलिगेशन में भी वे शामिल थे. एनआईए दफ्तर में उन्होंने पाकिस्तानी अफसरों से बातचीत भी की थी. 
 
NIA  में पांस साल से कर रहे थे काम
तनजिल अहमद पांच साल से एनआईए के लिए काम कर रहे थे. एटीएस और एनआईए की टीम मुरादाबाद के उस अस्पताल में पहुंच गई है, जहां अहमद का शव रखा गया है.