नई दिल्ली. शराब व्यपारी विजय माल्या एक बार फिर से प्रवर्तन निदेशालय के सामने पेश होने से मुकर गए हैं. माल्या आज आज ईडी के सामने पेश नहीं होंगे. रिपोर्टस के मुताबिक जांच एजेंसी के सामने पेश होने के लिए इस बार मई तक की मोहलत मांगी है.बता दें कि आईडीबीआइ बैंक से 900 करोड़ रुपये के कर्ज के धोखाधड़ी मामले में माल्या को शनिवार को पूछताछ के लिए पेश होना था.
 
माल्या का ED को संदेश
रिपोर्टस के मुताबिक माल्या ने ईडी को संदेश भेजा है कि वो बैंकों के साथ निगोशिएशन में व्यस्त हैं इसलिए फिलहाल ईडी दफ्तर में हाजिर नहीं हो पाएंगे. माल्या ने यह भी कहा कि वह निर्धारित दो अप्रैल की तारीख को पेश होने में असमर्थ हैं और उन्हें मई में कोई नई तिथि दें.
 
कर्ज निपटाने की कर रहे हैं कोशिश !
ऐसा समझा जाता है कि माल्या ने जांच अधिकारी को सूचित किया है कि बैंक कर्ज से संबंधित मामला फिलहाल सुप्रीम कोर्ट में है. और वह इस कर्ज को अपने कानूनी और कारपोरेट टीम की मदद से निपटान की कोशिश कर रहे हैं. इसीलिए उन्हें कुछ और समय चाहिए.
 
ED कर सकता है तीसरा समन जारी
ईडी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार  माल्या को अब तीसरा समन भेजा जा सकता है. एक शीर्ष अधि‍कारी ने बताया कि माल्या को अगले 36 घंटों में नई तारीख के साथ तीसरा समन भेजा जाएगा. हम सभी उपलब्ध विकल्पों पर विचार कर रहे हैं. यह तीसरा समन या हमारा अगला एक्शन प्ला हो सकता है. इसके अलावा तीसरे समन का जवाब न देने पर माल्या के खिलाफ वारंट संभव है.
 
माल्या ने कर्ज लौटाने का रखा था प्रस्ताव
इससे पहले विजय माल्या ने को सुप्रीम कोर्ट में बैंकों का कर्ज लौटाने का प्रस्ताव रखा है. माल्या ने कहा कि वह बैंकों से लिया हुआ पैसा वापस करेंगे. माल्या के वकील ने कोर्ट में कहा कि उनके मुवक्कि‍ल सितंबर तक 4000 करोड़ रुपये वापस करने के लिए तैयार हैं.