नई दिल्ली. अनुशासनहीनता पर कार्रवाई करते हुए दिल्ली विधानसभा ने बीजेपी के विधायक ओपी शर्मा को अगले दो सत्र के लिए सदन से निलंबित कर दिया. यह कार्रवाई आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा के खिलाफ पांच महीने पहले ‘अपमानजनक’ टिप्पणी करने को लेकर की गई है.

शर्मा ने निष्कासन से बचने के लिए अफसोस जताया था. इसके बाद उनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की गई है. विधानसभा की आचार समिति ने कल ‘सर्वसम्मति से’ अनुशंसा की थी कि शर्मा की सदस्यता खत्म कर दी जाए.

आचार समिति की सदस्य और आप विधायक भावना गौड़ ने शर्मा के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करते हुए सदन में प्रस्ताव रखा. इस प्रस्ताव पर चर्चा के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी विधायक को माफी मांगने का एक और मौका देना चाहिए.

शर्मा ने कहा है कि मेरा इरादा लांबा को आहत करने का नहीं था क्योंकि वह मेरी बहन की तरह हैं, लेकिन अगर उन्होंने आहत महसूस किया है तो मुझे इसको लेकर अफसोस है.

शर्मा के इस बयान के बाद उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने प्रस्ताव रखा कि अब बीजेपी विधायक को दो सत्रों के लिए निलंबित किया जाए क्योंकि उन्होंने माफी नहीं मांगी, सिर्फ अफसोस जताया है. दिल्ली विधानसभा की ओर से यह प्रस्ताव पारित कर दिया गया.