महोबा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुंदेलखंड के दो दिवसीय दौरे की शुरुआत गुरुवार को महोबा जिले से की. यहां एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने 26 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया. अखिलेश ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र ने उन्हें सूखा राहत धनराशि नहीं दी है. अखिलेश ने महोबा में एक जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने इस दौरान किसानों को सूखा राहत राशि वितरित की.
 
उन्होंने पिछले चार सालों के दौरान सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यो का जिक्र करते हुए चुनौती दी कि देश में कोई ऐसी सरकार नहीं है, जिसने उत्तर प्रदेश की समाजवादी सरकार जितना काम किया हो. उन्होंने कहा, “चार साल बाद हम कह सकते हैं कि बिजली, पानी और सड़क को लेकर जितना काम समाजवादियों की सरकार ने किया है, उतना किसी अन्य सरकार ने नहीं किया. केंद्र में नई सरकार बने भी लगभग दो साल हो गए हैं.” मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार किसानों के कर्जमाफी के साथ ही कई ऐसी योजनाएं चला रही है जिसका लाभ उनको मिलेगा. बुंदेलखंड में पेयजल की समस्या को दूर करने के लिए सरकार हर गांव में पानी के टैंकरों की व्यवस्था कर रही है.
 
अखिलेश यादव ने समाजवादी पेंशन योजना का जिक्र करते हुए कहा कि यही योजना समाजवादियों के दोबारा सत्ता में वापसी की राह आसान करेगी. उन्होंने कहा, “मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि समाजवादी सरकार जितने लोगों को समाजवादी पेंशन दे रही है, सिर्फ उतने लोग ही अगले चुनाव में वोट दें दे तो सरकार दोबारा बन जाएगी.”