नई दिल्ली. दिल्ली के बेगमपुर ईलाके में 18 साल एक लड़के और उसके दो दोस्तों ने आरोप लगाया है कि उनके स्कूल के बाहर के एक पार्क में तीन युवकों ने उस समय उनकी पिटाई की जब उन्होंने ‘भारत माता की जय’ नारा लगाने से इनकार कर दिया था. इनमें से एक मदरसा में पढ़ने वाले के छात्र की बांह टूटी हुई है. पुलिस का कहना है कि आपसी विवाद के चलते झगड़ा हुआ.
 
पुलिस के अनुसार, घटना 26 मार्च की है जब तीन लड़कों ने पुलिस कंट्रोल रूम को फोन किया और एक लड़ाई की शिकायत की थी. जब पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो इन छात्रों ने कहा कि इन्हें लाठी से पीटा गया. पुलिस का कहना है कि जिसके हाथ की हड्डी टूट गई थी, ने अपने बयान में कहा कि उन्हें ‘भारत माता की जय’ कहने के लिए कहा गया था. इन दिनों यह नारा राजनीति विवाद के केंद्र में है. पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. पुलिस ने सेक्शन 323 (घायल करने), 325 (जानबूझकर गंभीर नुकसान पहुंचाने), 341 (गलत तरीके से विरोध करने) और आईपीसी की धारा 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है.
 
कौन हैं दिलकाश, अजमल, नईम?
ये तीनों छात्र बिहार के पूर्णिया के रहने वाले हैं. पिछले साल दिल्ली आए थे. फिलहाल, तीनों फैज-उल-उलूम गौसिया मदरसा में पढ़ते हैं. नईम ने बताया, ‘हमले के कुछ मिनट बाद हम लोगों ने मदरसे की तरफ दौड़ लगा दी. हमने 100 नंबर पर फोन किया. इसके बाद पुलिस वैन में दिलकश को हॉस्पिटल ले जाया गया.’ अजमल के मुताबिक, ‘हमने पुलिस को दो हमलावरों के नाम बताए थे.’
 
‘आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करे पुलिस’
मदरसा कमेटी के मेंबर बिलाल के मुताबिक, ‘इस इलाके में कई कम्युनिटीज के लोग रहते हैं. मैंने कभी ऐसे हमले की बात नहीं सुनी. हमारी पुलिस से रिक्वेस्ट है कि आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करे.’ सोनू नाम के एक स्थानीय के मुताबिक, ‘कई बार फोन करने के बाद भी पुलिस नहीं आई. अंत में एक शख्स पीसीआर वैन लेकर आया, जिससे घायल को संजय गांधी हॉस्पिटल ले जाया गया.’