दीफू. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि अगर असम विधानसभा चुनाव में बीजेपी जीतती है तो सरकार की बागडोर नागपुर स्थित आरएसएस मुख्यालय में होगी या फिर दिल्ली के प्रधानमंत्री कार्यालय से सरकार चलाई जाएगी. कार्बी आंगलोंग जिला मुख्यालय दीफू में एक रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा प्रधानमंत्री झूठे वादे करने में माहिर हैं, लेकिन वह उन्हें कभी पूरा नहीं करते.
 
राहुल ने कहा, “मोदी जी आते हैं, झूठे वादे करते हैं और चले जाते हैं. वह कभी भी अपने वादों को पूरा नहीं करते. मोदी जी लोकसभा चुनाव से पहले असम आए थे और उन्होंने वादे किए थे, लेकिन उनके वादे अभी तक पूरे नहीं हुए हैं.” राहुल ने कहा, “अगर बीजेपी सत्ता में आएगी तो सरकार असम से नहीं, नागपुर या प्रधानमंत्री कार्यालय से चलाई जाएगी.”
 
राहुल ने कहा, “बीजेपी हमेशा लोगों को एक-दूसरे से लड़ाना चाहती है. हरियाणा में जब कांग्रेस की सरकार थी तो वहां पूरी तरह शांति थी, लेकिन बीजेपी के सत्ता में आने के एक महीने बाद ही हरियाणा में हिंसा शुरू हो गई. उन्होंने गुजरात, उत्तर प्रदेश सभी जगह यही किया.” राहुल ने कहा, “बीजेपी असम में भी हिंसा फैलाना चाहती है.” 
 
कांग्रेस के राज में राज्य में विकास न होने के मोदी के आरोपों को खारिज करते हुए राहुल ने कहा, “कांग्रेस ने पिछले 15 सालों में काफी काम किया है, लेकिन कांग्रेस सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि यह रही कि पार्टी ने अशांत राज्य में शांति कायम की.” 
 
विजय माल्या को लेकर मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा, “मोदी जी ने आपको नहीं बताया कि उनका एक मंत्री विजय माल्या से मिला और उसके बाद माल्या अपने छह सूटकेसों के साथ देश छोड़कर भाग गया. ललित मोदी को लाने की कोशिश भी नहीं हुई.” राहुल ने यह आश्वासन भी दिया कि अगर राज्य में कांग्रेस सत्ता में लौटेगी तो कार्बी आंगलोंग को 1000 करोड़ रुपये का पैकेज दिया जाएगा और राज्य में एक मेडिकल कॉलेज और एक इंजीनियरिंग कॉलेज भी खोला जाएगा.