पठानकोट. पठानकोट एयरबेस आतंकी हमले की जांच के लिए आई पाकिस्तान की ज्वाइंट इन्वेस्टिगेशन टीम पठानकोट पहुंच गई है. टीम अमृतसर एयरपोर्ट पहुंची थी. जहां उन्हें बुलेट प्रूफ एसयूवी से उस स्थान पर ले जाया गया जहां पठानकोट में हमला हुआ था.

खबर है कि एनआईए की टीम के साथ पाकिस्तान जांच दल को एयरबेस ले जाया जाएगा. इसी जगह यह पूरी घटना घटी थी. इसके लिए एयरबेस में सफेद, लाल और पीले रंग के शामियाने लगाए गए हैं ताकि संवेदनशील इलाकों को ढंका जा सके. सोमवार को टीम ने एनआईए के अधिकारियों से मुलाकात की थी.

एनआईए के अधिकारियों ने मुलाकात में जांच में इकट्ठा सबूतों को पाकिस्तानी टीम के सामने पेश किया. ख़बर यह भी है कि भारत सरकार पाकिस्तान से जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर की आवाज के नमूने मांग सकती है.

कांग्रेस ने पाकिस्तानी जांच दल में ISI के अधिकारी के होने पर सवाल उठाए हैं और पूछा है कि उसे यहां आने की इजाजत कैसे मिली ?

वहीं पठानकोट हमले की जांच को लेकर भारत आए पाकिस्तानी जांच दल का विरोध करते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मोदी सरकार ने पाकिस्तान के आगे घुटने टेक दिए हैं.

केजरीवाल ने कहा कि ISI को बुलाकर मोदी सरकार ने शहीदों की शहादत की सौदेबाजी की है. भारत के लोग ये कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे.