रंगापारा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को असम के रंगपाड़ा में चुनावी रैली को संबोधित किया. मोदी ने बिना नाम लिये विजय माल्या पर बड़ा हमला किया है. मोदी ने कहा है कि बैंकों का पैसा लेकर भागने वालों से एक एक पैसा वापस लेकर आउंगा. वो पैसा बैंकों का नहीं बल्कि गरीबों का है. पीएम मोदी ने चुनावी रैली में कहा- ”कांग्रेस ने बैंकों को अमीरों के लिए खोल दिया और इन अमीरों ने बैंकों के पैसे दबा लिए. अभी मैंने अभी कुछ स्क्रू टाइट किया है तो उनको पसीना छूट रहा है. जो भागे जा रहे हैं उन्हें जेल की सलाखें दिख रही हैं. कोई बचने वाला नहीं है. 
 
‘गोगोई से मांगा काम का हिसाब’
मोदी ने गोगोई से सवाल किया कि आपके पास सत्ता थी, सारा खजाना आपके पास था. जरा हिसाब तो दीजिए कि असम के लिए आपने क्या किया? मोदी ने कहा कि गोगोई साहब कहते हैं कि उनकी मुझसे लड़ाई है. हम लोकतंत्र में रहते हैं. आइए मिलकर लड़ते हैं. गरीबी और भ्रष्टाचार से लड़ते हैं. मोदी ने कहा, हमलोग लोकतांत्रिक लोग हैं. अगर हमको लड़ना पड़ेगा तो हम गरीबी और भ्रष्‍टाचार के खिलाफ लड़ेंगे. हमारे देश के संस्कार कहते हैं कि बुजुर्गों का आदर करना चाहिए. गोगोई साहब तो कुछ सालों में 90 साल के हो जायेंगे. हम उनसे लड़ाई कैसे कर सकते हैं.
 
‘हर ओर विकास ही हमारा एजेंडा’
पीएम मोदी ने अपने तीन एजेंडे के आधार पर बीजेपी के लिए वोट मांगे. उन्होंने कहा कि विकास, तेज गति से विकास और हर जगह विकास हमारा एजेंडा है. उन्होंने कहा कि पढ़ाई, कमाई और दवाई हर लोग की किस्मत बदल देगा.
 
‘बीमारू राज्य बन गया है असम’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम के लोगों से बदलाव के लिए मतदान करने की अपील करते हुए कहा कि यह ‘बीमारू राज्य’ बन गया है. इसे इस स्थिति से बाहर निकालने के लिए कांग्रेस को उखाड़ फेंका जाना चाहिए. मोदी ने बिहपुरिया और बोकाहाट विधानसभा क्षेत्रों में चुनावी सभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य के लोगों ने भाजपा को वोट देने का फैसला कर लिया है. लेकिन यह सुनिश्चित करिए कि बीजेपी दो तिहाई बहुमत से सत्ता में आए ताकि हम असम को देश का अग्रणी राज्य बनाने के लिए दिल खोलकर काम कर सकें. 
 
असम में दो चरणों में होगा चुनाव
असम में सभी दलों का चुनाव प्रचार अपने चरम पर है. असम में कुल 126 विधानसभा सीटें हैं और यहां दो चरणों में 4 और 11 अप्रैल को मतदान होगा. 19 मई को मतगणना होगी.